नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव की तारीखें जैसे जैसे नजदीक आ रही हैं, उत्तर प्रदेश की सियासत में उबाल बढ़ता जा रहा है। सूबे की राजनीति में तेजी से दलित नेता के रुप में अपनी पहचान बनाने वाले भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर आजाद ‘रावण’ ने राजधानी दिल्ली में एक रैली की। चंद्रशेखर ने अपने समर्थकों को संबोधित किया। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि आने वाले दिन में अगर जरूरत हुई तो हम भीमा कोरेगांव को दोहराने में पीछे नहीं हटेंगे।
‘वाराणसी जाकर मोदी को हराऊं?’
जंतर मंतर पर चंद्रशेखर ने अपनी पार्टी की ओर से बुलाई गई हुंकार रैली में मोदी सरकार के खिलाफ जमकर प्रहार किए। लोकसभा चुनाव में खुद की दावेदारी को लेकर चंद्रशेखर ने भीड़ से पूछा कि क्या आप चाहते हैं कि मैं वाराणसी जाकर मोदी को हराऊं? लोगों ने इसका जवाब हां में दिया। इसपर चंद्रशेखर ने कहा कि मैं एक सुरक्षित सीट चुन सकता था, लेकिन मैं नेता नहीं बनना चाहता हूं।
BJP को अलविदा करने की तैयारी में शत्रुघ्न सिन्हा, ट्विटर पर लिखा- तेरी महफिल में लेकिन हम न होंगे
हमें नजरअंदाज न करे सरकार: चंद्रशेखर
चंद्रशेखर ने कहा मैं कहता हूं कि हम सभी को मरना भी पड़ जाए तो ठीक लेकिन मोदी को फिर से पीएम नहीं बनने देंगे। अगर हमारी मांगें नहीं मानी गईं तो इसके लिए बड़ी कीमत चुकानी होगी। अगर सरकार ने हमें नजरअंदाज किया, तो ऐसी स्थिति में बहुजन समाज के लोग भीमा कोरेगांव जैसी घटना को फिर से दोहरा सकते हैं।
चंद्रशेखर से मिलने मेरठ गईं थीं प्रियंका गांधी
पिछले दिनों कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने चंद्रशेखर रावण से मिलने मेरठ के अस्पताल पहुंचीं थीं। इसके बाद चंद्रशेखर ने कहा था कि वह लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरेंगे। पहले तो अपने संगठन से कोई मजबूत प्रत्याशी उतारने का प्रयास करेंगे, लेकिन प्रत्याशी न मिलने पर वह खुद मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे।