नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हिंसा के बाद मचे सियासी घमासान के बीच चुनाव आयोग ने सभी दलों के लिए चुनावी प्रचार पर रोक लगी दी है। चुनाव आयोग ( Election commission) के इस फैसले पर ममता बनर्जी ने निशाना साधा है। ममता ने कहा कि पीएम मोदी और अमित शाह की शह पर चुनाव आयोग पश्चिम बंगाल में प्रचार पर पाबंदी लगाई है। ममता ने आरोप लगाया कि चुनाव आयोग भाजपा के इशारे पर चल रहा है। आयोग का यह फैसला असंवैधानिक है। चुनाव आयोग में आरएसएस के बैठे लोग अमित शाह के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर टीएमसी को निशाना बना रहे हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग के फैसले से बंगाल की जनता गुस्से में है।
मुकुल रॉय और चंबल का गुंडा साजिश रच रहा- ममता
बता दें कि अमित शाह की रैली में ईश्वर चंद विद्यासागर की प्रतिमा टूटने के बाद ममता बनर्जी और टीएमसी समर्थक खासे नाराज हो गए हैं। ममता बनर्जी ने प्रतिमा टूटने के खिलाफ पैदल मार्च किया है। ममता ने कहा कि इस पूरी साजिश के पीछे मुकुल रॉय का हाथ है। चंबल का डाकू और मुकुल रॉय यहां बैठकर सबकुछ करा रहे हैं। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने पीएम मोदी की रैली के बाद प्रचार पर रोक लगाई है। इससे साफ है कि भाजपा के इशारे पर आयोग चल रहा है।
ये भी पढ़ें: बंगाल: ममता बनर्जी पर PM मोदी का प्रचंड प्रहार, TMC ने गणतंत्र को गुंडातंत्र बना दिया

West Bengal CM, Mamata Banerjee: Election Commission is running under the BJP. This is an unprecedented decision. Yesterday’s violence was because of Amit Shah . Why has EC not issued a show-cause notice to him or sacked him? pic.twitter.com/1RKeviP4aR— ANI (@ANI) May 15, 2019

ये भी पढ़ें: कोलकाता हिंसा: डेरेक ओ ब्रायन ने अमित शाह पर लगाया आरोप, कहा- बाहर से बुलाए गए थे गुंडे
अमित शाह के खिलाफ हो कार्रवाई- ममता बनर्जी
ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि कल अमित शाह दंगा कराने के मूड में कोलकाता आए थे। वह बंगाल के बाहर से गुंडे लेकर आए थे और यहां रैली कर रहे थे । बिहार, महाराष्ट्र समेत अन्य राज्यों से असामाजिक तत्वों को बुलाकर यहां हिंसा करा रहे थे। हिंसा के लिए अमित शाह जिम्मेदार है। शाह ने बंगाल और बंगालियों का अपमान किया है। अमित शाह के खिलाफ तत्काल कार्रवाई होनी चाहिए। अमित शाह के रोड शो में 20 करोड़ रुपए खर्च किए गए हैं। उन्होंने कहा कि अमित शाह ने आज सुबह आयोग को धमकी दी थी उसी का यह नतीजा है कि आयोग ने प्रचार पर रोक लगा दी है। आखिरकार चुनाव आयोग ने अमित शाह को नोटिस जारी क्यों नहीं किया।

West Bengal Chief Minister Mamata Banerjee in Kolkata: Amit Shah created violence through his meeting, Ishwar Chandra Vidyasagar statue was vandalized but Modi did not feel sorry for that today. People of Bengal have taken this seriously, action should be taken against Amit Shah. pic.twitter.com/TeCvZReSpT— ANI (@ANI) May 15, 2019

ये भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल: हिंसा के बाद प्रचार पर रोक, EC ने प्रधान और गृह सचिव को भी हटाया
पीएम मोदी पर बरसीं ममता बनर्जी
ममता ने पीएम मोदी पर भी तंज कसा । उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने एक बार भी विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने को लेकर दुख जाहिर तक नहीं किया। ममता ने कहा कि पीएम मोदी मुझसे डर गए हैं। ममता ने मोदी पर निजी हमला करते हुए कहा, जो अपनी पत्नी की देखभाल नहीं कर सकते, देश की देखभाल कैसे कर सकते हैं। ममता ने कहा कि आयोग ने प्रधानमंत्री मोदी को अच्छा गिफ्ट भेंट किया है जो ‘अभूतपूर्व, असंवैधानिक और अनैतिक’ है।
 
 

West Bengal CM, Mamata Banerjee: Election Commission’s decision is unfair, unethical and politically biased. PM Modi given time to finish his two rallies tomorrow. pic.twitter.com/nsU9l5TJ7u— ANI (@ANI) May 15, 2019

West Bengal CM, Mamata Banerjee in Kolkata: Narendra Modi you cannot take care of your wife, how can you take care of the country? pic.twitter.com/oSL45s7lG5— ANI (@ANI) May 15, 2019

बंगाल में भाजपा-टीएमसी आमने-सामने
गौरतलब है कि मंगलवार को भाजपा अध्यक्ष अमित शाह का कोलकाता में रोड शो था । इसी दौरान हिंसक झड़पें हो गई। जिसके बाद रोड शो को बीच में ही रोक दिया गया। भाजपा ने हिंसा के लिए टीएमसी को जिम्मेदार ठहराया तो ममता बनर्जी ने भाजपा को रोड शो के दौरान हुए उपद्रव के लिए अमित शाह को दोषी करार दिया। आखिरी चरण के चुनाव से पहले बंगाल में भाजपा और टीएमसी आमने-सामने है। बंगाल में सियासी हालात को देखते हुए चुनाव आयोग ने प्रचार पर रोक लगाने का फैसला किया है। बंगाल की 9 सीटों पर 19 मई को मतदान है।