नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 में आदर्श आचार संहिता ( MCC ) का उल्लंघन करने पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) और बहुजन समाज पार्टी (BSP) प्रमुख मायावती ( Mayawati ) पर हुई कार्रवाई सुर्खियों में है। चुनाव आयोग ( Election Commission of India ) ने दोनों नेताओं पर क्रमश: 72 और 48 घंटों तक चुनाव के लिए पार्टी का प्रचार करने पर रोक लगी है।
आइए अब आपको बताते हैं कि इस पाबंदी के तहत ये दोनों नेता आखिर कौन कौन से काम नहीं कर सकेंगे। जिसकी वजह से चुनावी मौसम में संविधान के अनुच्छेद 324 के तहत ये पाबंदी किसी सख्त सजा से कम नहीं है।
ये भी पढ़ें: BJP ने जारी की 7 प्रत्याशियों की सूची, गोरखपुर से अभिनेता रवि किशन को मिला टिकट- किसी भी सार्वजनिक बैठक में शामिल नहीं हो सकते हैं।
– वोट मांगने के लिए सार्वजनिक जुलूस और रोड शो नहीं कर सकते हैं।
– सार्वजनिक रैलियों में शामिल नहीं हो सकते।
– फेसबुक, ट्विटर और यू ट्यूब यानि सोशल मीडिया पर कोई राजनीतित पोस्ट नहीं कर सकते हैं।
– इलेक्ट्रॉनिक और प्रिंट मीडिया के साथ रेडियो पर इंटरव्यू नहीं दे सकते हैं।
योगी आदित्यनाथ और मायावती पर ये आदेश 16 अप्रैल की सुबह छह बजे से लागू हो जाएगा। योगी पर ये पाबंदी 72 घंटे और मायावती पर 48 घंटे के लिए प्रभावी रहेगी।
Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download patrika Hindi News App.