नई दिल्ली। भारत के लिए सिरदर्द बन चुका जैश-ए- मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर एक बार फिर वैश्विक आतंकी घोषित होने से बच गया। दरअसल, चीन ने वीटो पावर का इस्तेमाल करते हुए यूएन में इस प्रस्ताव का विरोध किया। चीन के कारण भारत को बड़ा झटका लगा है। हालांकि, भारत ने चीन के इस फैसले पर कड़ी आपत्ति जताई है। लेकिन, इसके बाद में देश में सियासत शुरू हो गई है। चीन के इस फैसले को लेकर विपक्ष लगातार सरकार पर निशाना साध रहे हैं। इसी कड़ी में AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मोदी सरकार निशाना साधा है।
 

Asaduddin Owaisi , AIMIM on China blocks India’s bid to designate JeM Chief Masood Azhar as global terrorist in UNSC: This is failure of Narendra Modi’s ‘jhoola diplomacy’ & this ‘jhoola diplomacy’ is so fantastic that China refuses to cooperate in blacklisting this terrorist. pic.twitter.com/r62ybz6ErY— ANI (@ANI) March 14, 2019

ओवैसी का मोदी पर तंज
ओवैसी ने केन्द्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ‘झूला कूटनीति’ फेल हो गई। ओवैसी ने कहा कि मोदी की ‘झूला कूटनीति’ क्या खूब रंग लाई है कि चीन ने आतंकी मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने में कोई सहायता नहीं की। ओवैसी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि चीन ने आतंकी मसूद अजहर को ब्लैकलिस्टेट करने में कोई सहयोग नहीं किया। लेकिन, मोदी सरकार ने बुलेट प्रूफ जैकेट खरीदने के लिए चीन को 630 करोड़ का ऑर्डर दिया है। ओवैसी ने कहा कि भारत ने चीन को यह ऑर्डर क्यों दिया, क्या हम किसी और देश को नहीं दे सकते थे? चीन ही क्यों? मोदी को देश को जवाब देना चाहिए। यह नरेंद्र मोदी की ‘झूला कूटनीति’ की विफलता है