पणजी। सियासी घमासान से घिरे गोवा को आखिरकार नया मुख्यमंत्री मिल ही गया। विधानसभा के अध्यक्ष प्रमोद सावंत को गोवा की कमान सौंपी गई है। वहीं राज्य के दो डिप्टी सीएम महाराष्‍ट्रवादी गोमंतक पार्टी के सुदिन धवलीकर और गोवा फॉरवर्ड पार्टी के विजय सरदेसाई होंगे। राजभवन में देर रात आयोजित शपथग्रहण समारोह में राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने प्रमोद सावंत को पद व गोपनीयता की शपद दिलाई। बता दें कि मौजूदा मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर के आकस्मिक निधन के बाद से भाजपा के गठबंधन की सरकार खतरे में पड़ गई थी। जिसके बाद अब भाजपा ने क्षेत्रीय सहयोगी दलों के साथ मिलकर एक बार फिर से सरकार बनाने में सफलता पाई है।

Goa: Pramod sawant takes oath as the new Chief Minister of the state, at the Raj Bhavan. pic.twitter.com/bFq1j1B80t— ANI (@ANI) March 18, 2019

Goa: 11 leaders, including Sudin Dhavalikar of Maharashtrawadi Gomantak Party and Vijai Sardesai of Goa Forward Party, also take oath at the Raj Bhavan as cabinet ministers. pic.twitter.com/TQzT6WaasO— ANI (@ANI) March 18, 2019

बता दें कि देर रात 1:50 में राजभवन में हुए शपथग्रहण समारोह में प्रमोद सावंत ने शपथ ली, साथ ही सुदीन धवलीकर और विजय सरदेसाई ने भी शपथ ली। माना जा रहा है कि सुदीन धवलीकर और विजय सरदेसाई बतौर उप मुख्यमंत्री सरकार में कार्य करेंगे। कुल 11 सदस्यों ने देर रात नई सरकार के लिए शपथ ली है। इसमें भाजपा के मुआवीन गोडिनहो, विश्वजीत राणे, मिलिंद नायक और नीलेश कैबराल शामिल हैं, जबकि गोवा फॉरवार्ड पार्टी के विनोद प्लेयंकर और जयेश सालगोनकर ने भी शपथ ली। निर्दलीय विधायक रोहण खाउंटे और गोविंद गावडे ने भी राजभवन में देर रात शपथ ली। महाराष्‍ट्रवादी गोमंतक पार्टी के विधायक मनोहर अजगोनकर ने भी मंत्री पद की शपथ ली है।

#Correction Goa: MGP’s* Manohar Ajgaonkar, BJP’s Mauvin Godinho, Vishwajit Rane, Milind Naik and Nilesh Cabral, Goa Forward Party’s Vinod Palyekar and Jayesh Salgaonkar & Independent MLAs Rohan Khaunte and Govind Gawade also took oath at the Raj Bhavan as state cabinet ministers.— ANI (@ANI) March 18, 2019

फिलहाल सदन में सदस्यों की संख्या 36
बता दें कि 40 विधानसभा सीटों वाले गोवा में भाजपा के पास 12 विधायक हैं। वहीं भाजपा को गोवा फॉरवर्ड पार्टी और एमजीपी के तीन-तीन और एक एनसीपी विधायक का समर्थन हासिल है। इसके अलावा एक निर्दलीय उम्मीदवार भी भाजपा के समर्थन में है। वहीं, कांग्रेस के पास 14 विधायक हैं। भाजपा विधायक फ्रांसिस डिसूजा और रविवार को पर्रिकर के निधन और पिछले साल कांग्रेस के दो विधायकों सुभाष शिरोडकर और दयानंद सोपटे के इस्तीफे के कारण सदन में विधायकों की संख्या 36 रह गयी है। भाजपा के पास गोवा फॉरवर्ड पार्टी और एमजीपी सहित अन्य साथी दलों के समर्थन से 20 विधायक हैं। जबकि, कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी होने के कारण सरकार बनाने का दावा पेश कर रही थी। 
शनिवार को हुआ था पर्रिकर का निधन
सावंत उत्तरी गोवा स्थित सैनक्वलिम विधानसभा सीट से विधायक थे। पेशे से आयुर्वेद चिकित्सक सावंत पर्रिकर के बेहद करीबी लोगों में रहे। गत वर्ष सितंबर में कांग्रेस ने सावंत को विधानसभा अध्यक्ष के पद से हटाने का नोटिस दिया था। कांग्रेस का दावा था कि गोवा की भाजपा सरकार अल्पमत में थी। बता दें प्रमोद का नाम बीते 2-3 दिनों से लगातार चर्चा में था। अटकलें थीं कि गोवा में बीजेपी के अन्य सहयोगी दल प्रमोद के नाम पर सहमत नहीं होंगे, हालांकि अब इस पर सहमति बन गई है। एक दिन पूर्व शनिवार को गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर का 63 वर्ष की उम्र में देहांत हो गया। उनका अंतिम संस्कार सोमवार को ही किया गया। पर्रिकर काफी समय से बीमार चल रहे थे।
 
Read the Latest India news hindi on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले India news पत्रिका डॉट कॉम पर.