नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव 2019 ( Loksabha Election 2019 ) के परिणाम आने से पहले देश में नये सियासी समीकरण बनाने की पहल शुरू हो गई है। कांग्रेस और तेलंगाना राष्ट्र समिति ( TRS ) ने दूसरे दलों के नेताओं के साथ मुलाकात भी शुरू कर दी है। इसी कड़ी में जनता दल यूनाइटेड ( JDU ) ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ( Ghulam Nabi Azad ) के उस बयान को खारिज कर दिया है, जिसमें उन्होंने कहा था कि नीतीश कुमार ( Nitish Kumar ) जैसे कुछ नेताओं की मदद से केंद्र में गैर बीजेपी सरकार बनाई जा सकती है। JDU महासचिव केसी त्यागी ( K. C. Tyagi ) ने कहा कि जदयू एनडीए का सबसे भरोसेमंद साथी है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में एनडीए एक बार फिर केन्द्र में सरकार बनाएगी।
पढ़ें- ममता बनर्जी का पीएम मोदी पर हमला, विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने का सबूत दीजिए नहीं तो आपको जेल में डालूंगी
केसी त्यागी ने गुलाम नबी आजाद के बयान का किया खंडन
केसी त्यागी ने गुलाम नबी आजाद पर निशाना साधते हुए कहा कि जेडीयू एनडीए का सबसे भरोसेमंद साथी है और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हमारे सारथी हैं। उन्होंने कहा कि युद्ध में सारथी नहीं बदले जाते हैं और गुलाम नबी आजाद जेडीयू के प्रवक्ता नहीं हैं। त्यागी ने दावा किया कि केन्द्र में एक बार फिर से एनडीए की सरकार बनेगी और जेडीयू भी उसमें हिस्सेदार रहेगी। त्यागी के इस बयान से साफ स्पष्ट है कि जेडीयू में कांग्रेस की दाल नहीं गलने वाली है। गौरतलब है कि कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने बुधवार को पटना में मीडिया से बात करते हुए कहा था कि नीतीश कुमार गैर बीजेपी सरकार बनाने में अहम रोल अदा कर सकते हैं।
पढ़ें- अपने 6 नेताओं के खिलाफ कार्रवाई करेगा JDU, चुनाव में NDA का किया विरोध
विशेष राज्य के मुद्दे पर नवीन पटनायक का किया समर्थन-त्यागी
वहीं, विशेष राज्य का मुद्दा के बहाने जगन मोहन रेड्डी और नवीन पटनायक को साधने की नीति पर पर उन्होंने कहा कि ये हमारा एजेंडा नहीं है। इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह निर्णय लेने में सक्षम हैं। उन्होंने कहा कि हमने केवल विशेष राज्य के दर्जे पर नवीन पटनायक के बयान का समर्थन किया। अब देखना यह है कि चुनाव परिणाम के बाद देश में किस तरह की राजनीतिक बिसात बिछती है।